अपने घर में उर्जाओं को संतुलित कर खुशहाली और समृद्धि लाएं.

अच्छा भाग्य, हर इंसान का अधिकार है. प्राचीन चीनी विज्ञान फेंगशुई के बारे में पढ़ें और अपने घर में जीवंत उर्जा 'ची' का संचार करें.

बाहर और चारों ओर

सिंगापुर में रहने वाली फेंग शुई मास्टर; फॉर्च्यून फेंग शुई की मालिक; और अंतर्राष्ट्रीय फेंग शुई एसोसिएशन की सचिव अपर्णा अग्रवाल बताती हैं, 'आपके घर के प्रवेश द्वार के सामने किसी भी प्रकार की बाधा नहीं होनी चाहिए. "इस जगह पर पेड़ों, डंडों, या तीखी और नुकीली संरचनाओं के रूप में किसी प्रकार की बाधाएं नहीं होनी चाहिए, ये बाधाएं आपके घर में उर्जा का सहज प्रवाह बाधित करती हैं ”.

अगर आपके घर के पिछवाड़े में कुछ जगह खाली पड़ी है तो यहां पेड़ लगाने चाहिए. मुंबई में रहने वाली, इंस्टीट्यूट ऑफ मेटाफिजिक्स की फेंगशुई विशेषज्ञ सरिता जैन का कहना है कि, > "घर के पीछे पेड़ लगाने से जगह यिन बनती है. इससे परिवार के सदस्यों की स्थिरता बढ़ती है . "अक्सर हमारी प्रॉपर्टी के सामने, पीछे, बाएं या दाएं नालियां या बरसाती नाले खुले होते हैं. फेंगशुई के संदर्भ में, ये 'कटिंग फीट वॉटर' कहलाते हैं, वे निवासियों के लिए विभिन्न प्रकार की समस्याएं पैदा कर सकते हैं, इसलिए आपको इन्हें हमेशा ढक कर रखना चाहिए. पानी फेंगशुई में धन और बहुतायत का प्रतीक माना जाता है, लेकिन इस तरह की नालियां 'नकारात्मक पानी' का प्रतिनिधित्व करती हैं, क्योंकि उन में गंदगी होती है."

    

ध्यान में रखने योग्य बातें

फेंगशुई मास्टर अपर्णा अग्रवाल कुछ महत्वपूर्ण बातें बताती हैं.

  • 2014 का बाधाकारक स्टार उत्तर-पश्चिम सेक्टर में निवास करता है. इस कारण से इस भाग का कम से कम इस्तेमाल करें. स्टार के नकारात्मक प्रभावों को कम करने के लिए एक गोल धातु के बर्तन में 6 सिक्के डालकर इस कोने में रखें.
  • घर का दक्षिणी-पूर्वी कोना धन उर्जा के लिए जाना जाता है. इस कोने में हरे पौधे, पानी से जुड़ी पेंटिंग और हरे तथा नीले रंग लगाकर इस कोने को जागृत किया जा सकता है. इस कोने में धातु की वस्तुएं और उन से संबंधित रंग, जैसे कि सफेद, सिल्वर, गोल्डन और ग्रे/स्लेटी न रखें.
  • घर का दक्षिणी कोना नए अवसरों के लिए शुभ माना जाता है. इसलिए यहां पत्तियां और लाल मोमबत्तियां लगाई जानी चाहिए. यहां पर पानी और काले और नीले रंग नहीं होने चाहिए.
    

जलीय कारक / वाटर फैक्टर

सरिता का कहना है कि, "घर में एक समय में पानी का एक ही स्त्रोत होना चाहिए. यह स्त्रोत घर के दक्षिण-पश्चिम, उत्तर, पूर्व या दक्षिण-पूर्व भाग में हो सकता है. 2014 में, घर का दक्षिण-पश्चिम कोना, पानी के स्त्रोत, जैसे एक्वेरियम या फाउंटेन लगाने के लिए बेहतरीन माना गया है. अपर्णा बताती हैं कि (बहता हुआ पानी धन को आकर्षित करता है), तो घर में इस प्रकार का स्त्रोत रखें, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि पानी की बर्बादी की जाए. "नलों से बहता पानी धन को भी बहा ले जाता है" .

घर के अंदर

सरिता का कहना है कि "आपका मुख्य प्रवेश द्वार चौड़ा, अच्छी तरह से रोशन और सरल होना चाहिए, ना कि संकरा, तंग और कम प्रकाश वाला." अपर्णा कहती हैं, "प्रवेश द्वार पर इधर उधर बेतरतीब तरीके से जूते ना खोलें, इस तरह से खुले हुए जूते नकारात्मक ऊर्जा फैलाते हैं." "वैकल्पिक रूप से, आप जूते को सलीके से शू-रैक में व्यवस्थित कर सकते हैं." रैक को अपने घर के प्रवेश द्वार पर रखने से बचें क्योंकि यह नकारात्मक और स्थिर ऊर्जा प्रवाहित करती है.इसकी बजाय, मुख्य प्रवेश द्वार पर एक छिपी हुई अलमारी जो सिर के स्तर से उपर होती है, में भी जूते रखना फेंगशुई के हिसाब से गलत माना जाता है"

कभी-कभी किसी घर के सामने और पिछले दरवाजे एक ही लाइन में होते हैं. "ची उर्जा को बार-बार अंदर बाहर होने से रोकने के लिए किसी एक दरवाजे को लाइन से अलग कर दें," सरिता सलाह देती है. "किसी भी प्रॉपर्टी में ची उर्जा निवासी को तभी लाभ पहुंचाती है जब यह वहां रुके, व्यवस्थित हो और फिर बाहर निकले. ”

कमरों में

अपर्णा की सलाह है कि "बेडरूम में कभी भी कोई बहते पानी का स्त्रोत या पानी से संबंधित पेंटिंग न रखें, यह धन का संकेतक होता है, और हम अपने धन को ऐसे ही नींद में नहीं छोड़ सकते हैं". इसके अलावा आपके बिस्तर के ठीक सामने कोई दर्पण नहीं होना चाहिए, अगर कमरे में बाथरूम है, तो इसका दरवाजा बिस्तर के सामने नहीं आना चाहिए. जब आप सोते हैं, तो नकारात्मक ची आपके शरीर से बाहर निकलती है. अगर आपके सामने एक परावर्तक सतह होगी, तो नकारात्मक ची बाहर नहीं निकल पाएगी. बच्चों के कमरे में या आपकी स्टडी में, डेस्क को एक ठोस दीवार के सहारे रखा जाना चाहिए और सामने खुली जगह होनी चाहिए. "इससे नए अवसर खुलते हैं".

क्या पक रहा है

अपर्णा आगे बताती हैं कि,"घर के उत्तर-पश्चिम कोने में अपना किचन स्टोव रखने से बचें. यदि आप ऐसा नहीं कर सकते, तो एक धातु के स्टोव का चयन करें और इसके चारों ओर कोई भारी धातु रखें." स्टोव अग्नि तत्व का प्रतीक है. जब इसे उत्तर-पश्चिम क्षेत्र में रखा जाता है, तो यह धन, भाग्य, और सद्भाव के प्रवाह को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है. सरिता का मानना है कि, "मुख्य द्वार के माध्यम से घर में प्रवेश करते समय स्टोव दिखाई नहीं देना चाहिए. इसका मतलब होता है कि आप अवसरों को गंवा रहे हैं".

फेंगशुई की मूल बातें

फेंगशुई विशेषज्ञ सरिता जैन फेंगशुई के बारे में जानकारी देती हैं.

दिशानिर्देश तत्व निम्न जगहों पर भी लाभ होगा विशेषताएं सबसे अच्छे रंग
दक्षिण आग दक्षिण-पश्चिम, उत्तर-पूर्व उत्साह और अधिक उर्जा लाल, गुलाबी, बैंगनी, नारंगी, चमकीला पीला, और लपटों जैसा नीला
उत्तर पानी पूर्व, दक्षिण-पूर्व आराम और आधिक्य ओसन समुंद्री नीला, गहरा नीला और काला
पूर्व यैंग वुड दक्षिण विकास और जीवंतता गहरा हरा
दक्षिण-पूर्व यिन वुड दक्षिण विकास और जीवंतता हल्का और जेड ग्रीन
दक्षिण-पश्चिम, उत्तर-पूर्व, मध्य पृथ्वी पश्चिम, उत्तर-पश्चिम पोषण और स्थायित्व भूरे, गेरु और हल्के पीले रंग के सभी शेड
पश्चिम यिन मेटल उत्तर स्पष्टता और सटीकता सफेद, सिल्वर, गोल्डन और हल्के धात्विक रंग
उत्तर-पश्चिम यैंग मेटल उत्तर तीक्ष्णता, स्पष्टता, और सटीकता सफेद, सिल्वर, गोल्डन और गहरे धात्विक रंग

अपने विचार साझा करें

इस जानकारी को निजी रखा जाएगा और सार्वजनिक रूप से नहीं दिखाया जाएगा.