मुख्य बिंदु

    
  • प्री-अप्रूव्ड लोन –
    • लेंडर द्वारा किसी वैधानिक/कानूनी विवरण में जाए बिना प्रस्तावित किया जाता है
    • सीमित अवधि के लिए मान्य होता है
    • लोन की शर्तों में बदलाव संभव है
  • लाभ इस प्रकार हैं –
    • आपकी प्रापर्टी खोज पर फोकस
    • विक्रेता के साथ प्रभावशाली ढंग से मोल-भाव की प्रेरणा
    • तेज़ लोन प्रोसेसिंग
    

प्री-अप्रूव्ड होम लोन को आपकी इनकम, क्रेडिट योग्यता और फाइनेंशियल पोजीशन के आधार पर दिए जाने वाले लोन का लेंडर द्वारा किसी वैधानिक/कानूनी विवरण में जाए बिना प्रस्तावित किया जाता है. आमतौर से, प्री-अप्रूव्ड लोन प्रापर्टी चुनने से पहले लिए जाते हैं. कुछ लेंडर आपको होम लोन के लिए ऑनलाइन अप्लाई की सुविधा देकर तत्काल ई-अप्रूवल भी दे देते हैं.

Basics of Pre-approved Home Loansप्री-अप्रूव्ड होम लोन में ध्यान देने वाली खास बातें

प्री-अप्रूव्ड होम लोन क्या है?

  • प्री-अप्रूव्ड होम लोन को आपकी रीपेमेंट क्षमता के आधार पर लेंडर द्वारा किसी वैधानिक/कानूनी विवरण में जाए बिना प्रस्तावित किया जाता है.
  • प्री-अप्रूव्ड होम लोन सीमित अवधि के लिए मान्य होता है, आमतौर पर 6 महीने.
  • प्री-अप्रूव्ड लोन में, अंतिम लोन शर्तें डिसबर्समेंट के समय तय की जाती हैं.

लेंडर द्वारा किसी वैधानिक/कानूनी विवरण में जाए बिना प्रस्तावित किया जाता है

प्री-अप्रूव्डहोम लोनआपकी रीपेमेंट क्षमता के आधार पर दिया गया लोन ऑफर है. होम लोन दिया तब जाता है जब प्री-अप्रूव्ड लोन की वैधता अवधि के अंदर आप कोई प्रापर्टी तय कर लेते हैं और वह प्रापर्टी, लेंडर के कानूनी और तकनीकी मानदंडों के अनुरूप होती है. उदाहरण के लिए, अगर प्रापर्टी की हकदारी स्पष्ट न हो, या अगर मालिकाना ढांचा लेंडर के स्वीकृत मानकों के अनुरूप न हो, तो ऐसा हो सकता है कि प्री-अप्रूव्ड लोन ऑफर करने के बावजूद लेंडर आपको होम लोन न दे.

वैधता अवधि

प्री-अप्रूव्ड लोन ऑफर सीमित अवधि (आमतौर पर छह महीने) के लिए वैध होता है. आपको वैधता अवधि के अंदर प्रापर्टी फाइनल करनी होती है, और ऐसा न होने पर मामूली शुल्क लेकर आपकी लोन एप्लिकेशन पर फिर से विचार किया जाता है, जिसके लिए आपको अपनी इनकम के नवीनतम दस्तावेज लेंडर को देने होते हैं.

लोन की शर्तें

ऑफर में दी लोन शर्तें (ब्याज दर, EMI और अवधि) बाद में बदल सकती हैं. फाइनल लोन शर्तों को डिसबर्सल के समय तय किया जाता है. उदाहरण के लिए, आपके द्वारा प्रापर्टी का चुनाव किए तक ब्याज दर बदल सकती हैं. अत: उसी अनुसार आपके लोन की शर्तें भी बदल सकती हैं:

शर्तें सैंक्शन के समय (मार्च 2015) डिस्बर्समेंट के समय (मई 2015)
लोन की राशि ₹10 लाख ₹10 लाख
ब्याज दर 10.15% प्रति वर्ष 9.85% प्रति वर्ष
लोन की अवधि 20 वर्ष 20 वर्ष
EMI Rs.9,750 Rs.9,551
Basics of Pre-approved Home Loans

Basics of Pre-approved Home Loansप्री-अप्रूव्ड होम लोन के मुख्य फायदे इस प्रकार हैं

प्री-अप्रूव्ड होम लोन के मुख्य फायदे

  • आप अपनी प्रापर्टी खोज पर फोकस कर सकते हैं
  • सेलर्स से आपको बेहतर नेगोशिएशन पावर मिलती है
  • अच्छी प्रापर्टी डील आपके हाथ से नहीं जाएगी

प्रापर्टी की प्रभावी खोज

आपके फाइनेंस की स्थिति स्पष्ट हो जाने पर- आपकी होम लोन पात्रता और वह अमाउंट जो आप अपने स्रोतों से जुटा सकते हैं, दोनों से आप अपने घर की खरीद का बजट बना पाएंगे. फिर आप बेकार की डील्स में समय और मेहनत बर्बाद किए बिना सस्ती प्रॉपर्टी पर अपना ध्यान लगा सकते हैं.

विक्रेता के साथ मोलभाव

प्री-अप्रूव्ड लोन ऑफर से, आपको डेवलपर या प्रॉपर्टी विक्रेता से मोलभाव करने की बेहतर क्षमता मिलती है. आपको गंभीर खरीदार माना जाता है और अन्य खरीदारों की तुलना में जल्दी पेमेंट करने की आपकी क्षमता के कारण डेवलपर्स या विक्रेता आपके साथ बेहतर व्यवहार कर सकते हैं और आपको आकर्षक छूट भी दे सकते हैं.

तेज़ प्रोसेसिंग

आमतौर पर, प्री-अप्रूवल स्टेज में आपके केवल इनकम डॉक्यूमेंट्‌स का मूल्यांकन किया जाता है. जबकि लोन डिस्बर्सल से पहले, लेंडर प्रापर्टी के डॉक्यूमेंट जांच लेता है. चूंकि लेंडर क्रेडिट मूल्यांकन पहले ही करा चुका होता है, इसलिए पूरी लोन प्रक्रिया (लोन अप्रूवल से डिस्बर्समेंट तक) समय कम हो जाता है. लोन की तेज़ प्रोसेसिंग प्रॉपर्टी की खरीद आसान बना देती है. आपको अच्छी प्रॉपर्टी डील छोड़नी नहीं पड़ती या कीमत बढ़ने की चिंता नहीं करनी पड़ती.

Basics of Pre-approved Home Loansकई इन्क्वायरियों पर रोक

हालांकि ज्यादातर मामलों में प्री-अप्रूव्ड लोन अच्छा विकल्प है, लेकिन केवल तभी अप्लाई करना उचित है जब आप पक्के तौर पर घर खरीदना चाहते हैं. थोड़ी रिसर्च करना और फिर केवल एक या दो लेंडर्स के यहां अप्लाई करना उचित है. बिना अप्रूवल, विभिन्न इन्क्वायरियां आपके क्रेडिट स्कोर को नुकसान पहुंचा सकती हैं, क्योंकि लेंडर्स यह मान सकते हैं कि आप लोन के बारे में गंभीर नहीं हैं.

Basics of Pre-approved Home Loansनिष्कर्ष

प्री-अप्रूव्ड होम लोन में, लेंडर एक लोन सैंक्शन लेटर देता है, जिसके कुछ नियम और शर्तें पूरी करने पर आप इन-प्रिंसिपल, एक निश्चित अमाउंट तक लोन पा सकेंगे. इससे न केवल आप अपनी प्रॉपर्टी की खोज पर ध्यान केन्द्रित कर पाते हैं, बल्कि बढ़िया डील तय करने के लिए ज़रूरी फंडिंग पावर भी मिल जाती है. जैसे-जैसे हाउसिंग की मांग बढ़ेगी, अच्छी प्रॉपर्टी के विकल्प सीमित होते जाएंगे. ऐसे में, आप प्री-अप्रूव्ड होम लोन लेकर अपने सपनों का घर ज्यादा आसानी से बुक कर सकते हैं.

अपने विचार साझा करें

इस जानकारी को निजी रखा जाएगा और सार्वजनिक रूप से नहीं दिखाया जाएगा.