मुख्य बिंदु

    
  • कोई सगा परिजन (वेतनभोगी या स्व-व्यवसायी, भारतीय या NRI) को-एप्लीकेंट हो सकता है.
  • आपके होम लोन का को-एप्लीकेंट होने से इन चीजों में मदद मिलती है –
    • आपकी लोन पात्रता बढ़ाना
    • ज्यादा बड़ा घर खरीदना
    • अपनी पसंदीदा जगह पर घर लेना
    • अधिक टैक्स लाभ पाना
    • शेयर लोन का री-पेमेंट
  • आवश्यक नहीं कि को-एप्लीकेंट, प्रॉपर्टी का पार्ट ओनर (आंशिक स्वामी) हो
  • महिला को-ओनर को कम दरों का लाभ मिलता है
    

हम में से बहुत से लोगों के लिए घर, ‘जिंदगी में केवल एक बार’ किया जाने वाला निवेश होता है. तो यह स्वाभाविक है कि हम इसे व्यावहारिकता की सीमा में ज्यादा से ज्यादा बड़ा और बेहतर बनाना चाहेंगे. हमारी खरीदने की क्षमता से हमारे घर का आकार, स्थान, और गुणवत्ता तय होते हैं. बेशक, होम लोन मिलने की संभावना ने हमारी खरीदने की क्षमता बढ़ाई है. हालांकि, आपकी होम लोन पात्रता आपकी उम्र, इनकम के स्तर, जो अन्य लोन आप अभी भी चुका रहे हैं, आदि पर निर्भर करती है. लेंडर के ऐसे विवेकी नियम होते हैं जो यह आवश्यक करते हैं कि वर्तमान में आप जो भी अन्य EMI चुका रहे हों उन्हें मिलाकर आपके होम लोन की EMI, आपके कर-पश्चात वेतन के एक निश्चित अंश से अधिक न हो.

Benefits of taking a joint home loanअपनी होम लोन पात्रता बेहतर बनाना

आपसे अलग इनकम स्रोत वाले को-एप्लीकेंट को जोड़ना आपकी होम लोन पात्रता बढ़ाने का एक तरीका है. लेंडर आपकी रीपेमेंट की क्षमता का आकलन करते समय उनकी इनकम पर भी विचार करेगा, जिससे आपकी होम लोन पात्रता राशि बढ़ जाएगी.

Benefits of taking a joint home loanको-एप्लीकेंट कौन हो सकता है?

सामान्यतः कोई सगा परिजन आपका को-एप्लीकेंट हो सकता है को-एप्लीकेंट वेतनभोगी या स्व-व्यवसायी हो सकता है; अप्रवासी भारतीय यानि NRI भी को-एप्लीकेंट हो सकते हैं.

Benefits of taking a joint home loanको-एप्लीकेंट बनाम को-ओनर

यहां को-ओनर और को-एप्लीकेंट का अंतर साफ कर देना आवश्यक है. को-ओनर, प्रॉपर्टी का जॉइंट ओनर होता है, जबकि यह जरूरी नहीं कि को-एप्लीकेंट, प्रॉपर्टी का पार्ट ओनर (आंशिक स्वामी) हो ही. बुनियादी सिद्धांत यह है कि प्रॉपर्टी के सभी को-ओनर को होम लोन का को-एप्लीकेंट बनना होगा. हालांकि, यह जरूरी नहीं कि सभी को-एप्लीकेंट, को-ओनर भी हों. केवल उनकी इनकम को क्रेडिट / लोन मूल्यांकन में शामिल किया जाता है.

Benefits of taking a joint home loanजॉइंट होम लोन लेने के मुख्य लाभ

जॉइंट होमलोन लेने के मुख्य लाभ

  • अधिक लोन पात्रता
  • अधिक टैक्स लाभ
  • महिला को-ओनर के लिए विशेष ब्याज दरें

जॉइंट होम लोन लेने के दो महत्वपूर्ण लाभ होते हैं.. वे हैं:

अधिक लोन पात्रता:

जॉइंट होम लोन एप्लीकेशन देते समय अपनी इनकम मिलाकर एप्लीकेंट कहीं अधिक लोन राशि के पात्र हो जाते हैं और इसलिए वे एक अधिक बड़ा / बेहतर घर खरीद सकते हैं.

अधिक टैक्स लाभ:

होम लोन के लिए जॉइंट रूप से अप्लाई करके, को-एप्लीकेंट द्वारा अलग से होम लोन पर उपलब्ध टैक्स कटौती का लाभ उठाया जा सकता है, बशर्ते कि वे प्रॉपर्टी के को-ओनर हैं और उनमें से प्रत्येक व्यक्ति होम लोन के रीपेमेंट में योगदान कर रहे हैं. a) मूलधन का पुनर्भुगतान, इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80C के तहत, अधिकतम ₹1.50 लाख तक की कटौती के लिए पात्र हैं. b) होम लोन के ब्याज भुगतान के लिए, सेक्शन 24 के तहत ₹2 लाख तक टैक्स कटौती का लाभ लिया जा सकता है, अगर प्रॉपर्टी का उपयोग खुद किया जा रहा है; अगर प्रॉपर्टी को किराए पर दिया जाता है, तो पूरा ब्याज टैक्स कटौती के लिए पात्र हो जाता है, यानी कोई अधिकतम लिमिट नहीं है. जॉइंट होम लोन में, क्योंकि प्रत्येक को-एप्लीकेंट इस कटौती के लिए व्यक्तिगत रूप से पात्र होते हैं, इसलिए सिंगल एप्लीकेंट लोन की तुलना में संयुक्त रूप से प्राप्त होने वाले टैक्स लाभ अधिक होते हैं. प्रत्येक को-एप्लीकेंट को प्राप्त होने वाले टैक्स लाभ की राशि, उनके द्वारा मूलधन राशि और ब्याज के लिए रीपेमेंट में किए गए योगदान के अनुसार होती है, जो ऊपर दी गई लिमिट के अधीन है. इसलिए को-एप्लीकेंट प्लान कर सकते हैं कि वे कितना टैक्स लाभ प्राप्त करना चाहते हैं, जिसके आधार पर वे निर्णय ले सकते हैं कि प्रत्येक लोन के लिए किस अनुपात में रीपेमेंट करना है.

महिला को-ओनर के लिए विशेष ब्याज दरें:

कुछ लेंडर महिला कस्टमर को अलग होम लोन ब्याज दर ऑफर करते हैं, जो आमतौर पर सामान्य होम लोन दर से कुछ बेसिस पॉइंट कम होती है. ब्याज दर पर छूट का लाभ लेने के लिए, किसी महिला का प्रॉपर्टी का एकमात्र या जॉइंट ओनर होना तथा होम लोन का एप्लीकेंट या को-एप्लीकेंट होना आवश्यक है.

Benefits of taking a joint home loan

Benefits of taking a joint home loanकैविएट

अधिकांश मामलों में जॉइंट होम लोन लेना लाभदायक होता है, पर नीचे कुछ स्थितियां बताई जा रही हैं जिनमें आपको जॉइंट होम लोन के लिए अप्लाई करने से बचना चाहिए:

  • सिंगल एप्लीकेंट के तौर पर आपकी पात्रता, आपकी लोन आवश्यकता को पूरा करती है.
  • खराब क्रेडिट इतिहास के कारण आपकी क्रेडिट रेटिंग कम है.
  • आप किसी जारी लोन, जो आपकी अधिकतम लोन पात्रता के अनुसार लिया गया था, को चुका रहे हैं.
  • इस समय आप एक कम कीमत वाली प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं (शायद निवेश के लिए) और बाद में खुद के रहने के लिए कोई बड़ी प्रॉपर्टी खरीद सकते हैं.
  • आप जल्द ही रिटायर होने वाले हैं.

Benefits of taking a joint home loanरीपेमेंट की जिम्मेदारी

होम लोन का रीपेमेंट सभी को-एप्लीकेंट की सामूहिक और व्यक्तिगत जिम्मेदारी होती है. एप्लीकेंट द्वारा चुने गए किसी भी तरीके से लोन का भुगतान किया जा सकता है; वे EMI का भुगतान अलग-अलग कर सकते हैं या किसी जॉइंट बैंक अकाउंट के जरिए ऐसा कर सकते हैं.

Benefits of taking a joint home loanडॉक्यूमेंटेशन

लोन तेजी से और बिना किसी बाधा के पाने के लिए होम लोन के उचित डॉक्यूमेंट, जैसे आपका KYC (पहचान और पते का प्रमाण), इनकम और प्रॉपर्टी डॉक्यूमेंट जरूरी होते हैं. इन्हीं डॉक्यूमेंट के आधार पर लेंडर, आपके होम लोन एप्लीकेशन को प्रोसेस करते हैं. लेंडर के पास सभी को-एप्लीकेंट के KYC डॉक्यूमेंट जमा करने होते हैं, वहीं इनकम का प्रमाण केवल उन को-एप्लीकेंट से चाहिए होता है जिनकी इनकम को लोन मूल्यांकन में शामिल किया जाना है.

Moving To a New House Consider the Taxation Angleनिष्कर्ष

जॉइंट होम लोन लेना न केवल बेहतर घर खरीदने के लिए बल्कि टैक्स लाभ में बढ़ोत्तरी की बदौलत घर की संपूर्ण लागत घटाने में भी लाभदायक है. साथ ही, लोन चुकाने की जिम्मेदारी बंट जाने से भी लोन रीपेमेंट का बोझ घट जाता है.

इसे भी पढ़ें - महिलाओं के लिए होम लोन

टिप्पणी

अपने विचार साझा करें

इस जानकारी को निजी रखा जाएगा और सार्वजनिक रूप से नहीं दिखाया जाएगा.