कीड़े और रोग हर बाग में होते हैं. फंगल इन्फेक्शन, कैटरपिलर, बीटल, कुत्ते, हिरण-संभावित समस्याओं की सूची का अंत नहीं है. अच्छी बात ये है कि आप अपने स्वास्थ्य को जोखिम में डाले बिना या ज्यादा खर्च किए बिना इन आक्रमणकारियों से लड़ सकते हैं. कई मामलों में, बस अपने बागवानी के तौर-तरीकों को बदलने से आप समस्याओं के होने से पहले ही उनको दूर कर सकते हैं. अनेक रोग और फंगल इन्फेक्शन बगीचे के ज्यादातर पौधों को नष्ट या खराब कर सकते हैं. पाउडर जैसी चीज़ वाली या अजीब रंग की पत्तियां इन्फेक्शन के सामान्य लक्षण हैं. रोकथाम करना, रोगों से बचाव का सबसे सरल उपाय है; एक बार हो जाने के बाद ज्यादातर समस्याओं को नियंत्रित करना मुश्किल या असंभव होता है. अपने बगीचे को सुंदर और कीट-मुक्त रखने के लिए इन सुझावों का पालन करें.

रोग-प्रतिरोधक किस्में चुनें

यह सबसे महत्वपूर्ण कदम है जिसे अपनाकर कोई गार्डनर, फंगल इन्फेक्शन सहित सभी प्रकार की बीमारियों को नियंत्रित कर सकता है. रोग प्रतिरोधी बताए गए पौधों की किस्मों के लिए कैटलॉग या वेब साइटें देखें. भरोसेमंद नर्सरी और गार्डन स्टॉफ से सलाह लें.

पौधों को पर्याप्त जगह दें

बढ़ने और फैलने के लिए फंगल इन्फेक्शन को नमी चाहिए होती है. घने लगे हुए पौधे प्रायः बारिश के बाद जल्दी सूख नहीं पाते जिससे फंगस को विकसित होने और फैलने का अधिक अवसर मिलता है. पौधों को उससे ज्यादा करीब-करीब न लगाएं, जैसी सिफारिश की गई हो, और नम इलाकों में, उन्हें थोड़ा ज्यादा स्पेस दें.

पत्तियां सूखी रखें

पत्तियों को यथासंभव सूखा रखने के लिए, ओवरहेड सिंचाई से बचें; इसके बजाय, जहां संभव हो पौधों की जड़ में पानी दें. यदि आप बेल वाली फसलें जैसे कि टमाटर और खीरे उगा रहे हैं, तो पौधों को ट्रेलेज़ का सपोर्ट दें, ताकि पत्तियां और फल नम मिट्टी के संपर्क में न रहें.

रोगग्रस्त पौधे हटा दें

समस्याओं की पहचान के लिए पौधों की जांच करें. रोगग्रस्त या मृत पौधों को बगीचे से तुरंत हटा दें और कूड़े में फेंक दें. रिइन्फेक्शन को रोकने के लिए, रोगी पौधों को अपने कंपोस्ट वाले ढेर में न डालें.

अपनी मिट्‌टी की जांच (और उपचार) कराएं

कमज़ोर मिट्टी या बहुत ज्यादा अम्लीय या क्षारीय मिट्टी में उगाए गए ज़्यादातर (हालांकि सभी नहीं) पौधों में जल्दी समस्याएं बनती हैं. आपकी स्थानीय काउंटी एक्सटेंसिव सर्विस, बहुत कम पैसों में आपके बगीचे की मिट्टी का परीक्षण कर सकती है और कमियों को ठीक करने के लिए बदलावों के सुझाव दे सकती है. अपनी मिट्‌टी में आपको नियमित रूप से ऑर्गनिक पदार्थ भी डालने के बारे में सोचना चाहिए ताकि इसकी बनावट और जल-धारण क्षमता में सुधार हो सके.

चिंताओं से बचें

रोकथाम करना, रोग दूर रखने का सरल उपाय है; एक बार होने के बाद समस्याएं नियंत्रित करना मुश्किल होता है.

अपने विचार साझा करें

इस जानकारी को निजी रखा जाएगा और सार्वजनिक रूप से नहीं दिखाया जाएगा.