अपने घर को विभिन्न रंगों से सजाकर इसमें खुशी और सद्भावना लाएं. हम आपको बताते हैं कि यह कैसे करना है.

Pop goes my heart
कमरे को सजाते समय, रंगों को प्रतिशत में विभाजित करें: 60% प्रमुख रंग (दीवारें), 30% द्वितीयक रंग (असबाब) और 10% एक्सेंट रंग. मिक्स और मैच पैटर्न लागू करते समय आपके सामने सबसे बड़ी समस्या यह आती है कि आप निर्धारित नहीं कर पाते कि कौनसा रंग दीवारों पर खिलेगा और कौनसा नहीं. इससे पहले कि आप इस बारे में अधिक सोचें, आपको अपनी पसंद का एक रंग पैलेट देखना चाहिए. रंगों का चयन करते समय सबसे पहले यह तय करें कि रंग गर्मी के हिसाब से चुना जा रहा है या ठंड के हिसाब से.
तेज और गहरे रंगों से परहेज न करें. मिक्स और मैच करके पैटर्न चुनने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपको जीवंत रंगों की एक व्यापक शृंखला मिल जाती है. तेज़ बरगंडी रंग में ज्वैल टोन; गार्नेट लाल और एक्वामरीन नीला ज़ेबरा प्रिंट साइड कुर्सी पर बहुत फबता है. मोनोक्रोमैटिक डिज़ाइन वाले प्रिंट चुनें, इसके अलावा आपके द्वारा चुने गए रंग अपने आस-पास के गहरे रंगों के साथ मिलते जुलते होने चाहिए.
Pop goes my heart
Pop goes my heart
सभी रंग किसी ना किसी भावना का चित्रण करते हैं. तो, आप उस विशेष कमरे में क्या दिखाना चाहते हैं, उसके आधार पर ही रंगों का चयन करें. अपनी हाल की यात्राओं से प्रिंट और पैटर्न चुनें. शुरुआत में देशी फैब्रिक चुनें. पैटर्न और प्रिंट का उपयोग करें और उन्हें आपकी रहने की जगहों या आपके बेड के गहरे रंगों से मिलाने की कोशिश करें और अपने कमरे को रंगीन बना दें. यह देख कर आपके आश्चर्य की कोई सीमा ना रहेगी कि किस प्रकार से आपकी वर्तमान यात्राओं से निकले कुछ फैब्रिक, आपके कमरे का शानदार इंटीरियर बना सकते हैं.

अपने विचार साझा करें

इस जानकारी को निजी रखा जाएगा और सार्वजनिक रूप से नहीं दिखाया जाएगा.