क्या आप अपने घर में कोई ऐसा कोना चाहते हैं जो दुनिया भर की चिक-चिक और तनाव से दूर हो? आइए आज आपको जापानी ज़ेन ज़ोन बनाना सीखाते हैं.

दुनिया भर के तनाव और भागदौड़ के बाद, आपका घर आपको सुकून देने वाली एकमात्र जगह होता है. इसलिए घर आपको आराम, शांति, उष्मा और संतोष प्रदान करने वाला होना चाहिए. जापानी ज़ेन जीवन जीने का बौद्ध तरीका है, और यह मानसिक शांति, संतुलन, एकरसता और सरलता देने के लिए जाना जाता है. अगर आप भी अपनी रोजमर्रा की तनाव भरी जिंदगी से दूर कुछ समय शांति के साथ बिताना चाहते हैं, तो पारंपरिक ज़ेन आधारित डिज़ाइन और डेकोर अपनाएं, जो सरलता के साथ एक सामंजस्य भरा और शांतिपूर्ण इंटीरियर बनाते हैं. हालांकि ज़ेन इंटीरियर का मतलब यह नहीं है कि आप घर से सारा सामान निकाल दें, इसका मतलब यह है कि घर में अधिक कबाड़ ना हो और जैसे ही आप घर में प्रवेश करें आपको शांति का एहसास हो.

हालांकि यह कोई पारंपरिक डिज़ाइन नहीं है, इसलिए इसे बनाने के लिए कोई तय नियम नहीं है, अगर आप ज़ेन लाइफ जीना चाहते हैं और उस आधार पर अपने घर को सजाना चाहते हैं तो सबसे पहली चीज आपको यह ध्यान रखनी है कि सब कुछ सरल और न्यूनतम रखें - चाहे घर में हो या विचारों में.

तो ज़ेन इंटीरियर क्यों अपनाएं?

मुंबई स्थित इंटीरियर आर्किटेक्ट अक्षिता लूथरा हेमनानी कहती हैं कि ज़ेन का सिद्धान्त साधारण जीवनशैली पर जोर देता है, जिसका अर्थ यह है कि आप उन्हीं भौतिक चीजों का संग्रह करें जिनकी आपको अधिक से अधिक आवश्यकता है. यह आपको आपके पास उपलब्ध चीजों का एहसास दिलाता है, और रोजमर्रा के जीवन से संतुलन बिठाने में मदद करता है. “ज़ेन का अर्थ है ध्यान और परावर्तन, और वे सभी चीजें जो आपको संतुलन और सामंजस्य बनाने में मदद करती है, और इन्हीं सभी बातों को आपकी डेकोर स्टाइल में उतारा जाता है. यह शांत रंगों, प्राकृतिक फैब्रिक और एक दूसरे से मिलती साधारण फैब्रिक और लाइटिंग के रूप में हो सकती है".

आरामदायक लाइटें

तेज़ प्रकाश, मनुष्य की बॉडी क्लॉक को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है, जिसके कारण भविष्य में बहुत सी स्वास्थ्य समस्याएं आ सकती हैं. इसलिए कोशिश यह रखें कि दिन के समय आपके घर में प्राकृतिक प्रकाश आता रहे. शाम के समय शांत और आरामदायक लाइटें जलाएं. “घर में प्रकाश स्त्रोत चुनते समय यह ध्यान रखना बहुत जरूरी है कि यह मन को आराम देने वाला होना चाहिए और बहुत तेज़ नहीं होना चाहिए. मुंबई आधारित इंटीरियर डिज़ाइनर और आर्किटेक्ट शाहीन मिस्त्री का कहना है कि,"घर में एक शांत वातावरण का निर्माण करने के लिए टेबल लैंप, स्टैंडिंग लैंप या कम प्रकाश वाले स्त्रोतों का इस्तेमाल करें". आपके मूड और काम-काज के हिसाब से संतुलित प्रकाश का उपयोग करें. मोमबत्तियां और पेपर लालटेन आपके कमरे को सजाने और प्रकाशित करने के सस्ते डेकोर आइडियाज़ हैं.

कमी में ही आधिक्य है

एक ज़ेन घर, खुला, व्यवस्थित और साफ होना चाहिए, जिससे उर्जा का प्रवाह संतुलित रूप से हो सके. घर से कबाड़ हटाने और इसे व्यवस्थित करने से आपके घर में उर्जा का संचार होता है. घर की हर दराज और आलमारी चेक करें, और जो चीजें आपके काम की ना हो, उन्हें या तो बेच दें या फिर किसी को दे दें. चीजों को रखने के लिए एक उपयुक्त स्थान चुनें (जो सामने से दिखाई न देता हो), और सामने की सतहों पर सामान न रखें.

रिलेक्सिंग टोन

कमरे में सामंजस्य का संचार करने के लिए कोमल, प्राकृतिक और अर्थी रंगों का चुनाव करें. अक्षिता बताती है कि,"कोमल शेड और प्राकृतिक रंगों जैसे कि गुलाबी, बेज, धूसर और सफेद इत्यादि को प्राथमिकता दें." अन्य जमीन से जुड़े रंग जैसे कि मैरून, टैन, हरा और अंबर कमरे को बड़ा दिखलाते हैं और इसे एक शांतिपूर्ण लुक देते हैं.

डेलीकेट फैब्रिक

कमरे में गर्मजोशी का संचार करने के लिए प्राकृतिक फैब्रिक जैसे कि सूती, ऊनी, जूट, खादी और बम्बू का इस्तेमाल करें. अक्षिता के अनुसार, "आपको उन रंगों के फैब्रिक चुनने चाहिए जो कमरे में प्राकृतिक प्रकाश को आने देते हैं, साथ ही प्रकाश की तीव्रता को भी अवशोषित कर लेते हैं." शाहीन के अनुसार, "बम्बू की बनी चटाइयां और ब्लाइंड देखने में तो खूबसूरत लगते ही हैं, साथ में यह उर्जा के प्राकृतिक प्रवाह को भी बनाए रखते हैं." इसके अलावा, कमरे में प्राकृतिक सुगंधों को रखें जो आपको शांत रखने के साथ ही कमरे की अंतरंगता में भी वृद्धि करती है. सुगंधित तेल और प्राकृतिक लिनन आपके मूड को हल्का और रिलेक्स करते हैं.

साधारण फ्लोरिंग

लकड़ी का फर्श ना केवल घर को जीवंत बना देता है बल्कि यह देखने में भी शानदार लगता है. “लकड़ी का फर्श, जिस पर थोड़े बहुत सॉफ्ट थ्रो बने हुए हों, एक शानदार ज़ेन वातावरण प्रदान करता है. अक्षिता बताती है कि, "अगर आप अपने घर में मौजूदा पत्थर या टाइल के फर्श को बदल नहीं सकते तो इसकी चमक और तीव्रता कम कर दें (जैसे कि सफेद मार्बल का फर्श काफी चमकीला होता है), इसके लिए आप इस पर पेस्टल टिंट वाले आसन और कुशन बिछा सकते हैं." शाहीन का मानना है कि, "लकड़ी के फर्श का रख-रखाव आसान होता है, और इसमें रंगों की भी अच्छी रेंज मिल जाती है. आप इस पर एक रंग वाला कोई मुलायम कार्पेट बिछा सकते हैं".

फाइनल टच

अपने घर को सजाते समय इसे एक खुशनुमा घर बनाने के लिए निम्न टिप्स और ट्रिक्स को अपनाएं

प्रकृति संग स्वस्थ हो

घर में पौधे लगाएं - इससे आपका घर जीवंत हो उठेगा. इसके अलावा वे घर में एक शांत माहौल प्रदान करते हैं और घर के अंदर की हवा को प्राकृतिक रूप से शुद्ध भी करते हैं. शाहीन कहती हैं, "चाहे बोनसाई हो या बम्बू, कमरे में लगा पौधा कमरे को शांत और मजेदार बना देता है".

इलेक्ट्रॉनिक फ्री ज़ोन

विभिन्न प्रकार के उपकरण, केबल और वायर वातावरण के दृश्य सामंजस्य को प्रभावित करते हैं. ये विकर्षण का स्त्रोत होते हैं और सकारात्मक ऊर्जा के प्रवाह में बाधा डालते हैं. ज़ेन फिलॉसॉफी से प्रेरित कमरे में इस प्रकार की चीजों की जगह नहीं होती. लेकिन अगर फिर भी आपको इन्हें कमरे में रखना पड़ रहा है, तो इन्हें स्टोरेज़ यूनिटों में रखें और केबल और वायर का नकारात्मक प्रभाव कम करने के लिए इन्हें छिपाकर रखें.

आकर्षक डेकोरेशन

घर सज्जा के सामान साधारण और कम से कम रखें. जहां तक हो सके प्राकृतिक सामानों का इस्तेमाल करें. पानी वाली आकृतियां, सिरेमिक की चीजें, बुनी हुई टोकरियां, ज्यामितीय आकृतियां पत्थर, स्टोन और गैर-मूल्यवान धातुएं एक बेहतरीन ज़ेन स्टाइल का डेकोर बनाती है. अक्षिता बताती हैं कि "आप जापानी आर्टिफेक्ट के बिना भी ज़ेन इंटीरियर तैयार कर सकते हैं. इन सजावटी वस्तुओं को शांत और शोर रहित वातावरण में रखना बेहतर होता है".

फर्नीचर कम से कम रखें

घर के फर्नीचर को सीधी रेखा में, ज्यामिति और सममिति के अनुसार रखें, इसके विन्यास को अधिक जटिल न बनाएं. घर में कम से कम फर्नीचर होना एक अच्छे ज़ेन इंटीरियर की निशानी है. इसके अलावा एक निरंतरता लाने के लिए फर्नीचर का रंग कमरे के रंग से मैच करें. अक्षिता बताती है कि, "फर्नीचर को आंखों के स्तर से नीचे रखा जाना चाहिए, इससे आंखें शून्य में देख सकती हैं, और एक प्रकार से विस्तार का एहसास करवाती हैं".

अपने विचार साझा करें

इस जानकारी को निजी रखा जाएगा और सार्वजनिक रूप से नहीं दिखाया जाएगा.