मुख्य बिंदु

    
  • डाउन पेमेंट जमा करने के लिए आप निम्न उपाय कर सकते हैं –
    • अपना सेविंग कॉर्पस बनाएं
    • भुगतानों का आनुपातिक रिलीज सुनिश्चित करें
    • अपनी इंश्योरेंस पॉलिसियों/PPF के विरुद्ध उधार लें
    • दोस्तों, रिश्तेदारों से उधार लें
  • उच्च डाउन पेमेंट के लाभ
    • कम ब्याज दर
    • लेंडर के लिए बेहतर
    • कम प्रोसेसिंग लागत और इंश्योरेंस प्रीमियम
    • बड़ी होम इक्विटी
  • उच्च डाउन पेमेंट के नुकसान
    • आपात स्थिति के दौरान कम तरलता और संभावित फाइनेंशियल संकट
    • कम टैक्स लाभ
    • शुरुआती खर्चों जैसे कि होम इंटिरियर्स के लिए फंड में संभावित कमी
    

दिन भर की भाग दौड़ के बाद, अंत में घर वापस जाकर ही सुकून मिलता है. यह आपकी अपनी निजी जगह होती है, जहां आप बिना यह सोचे की कोई क्या कहेगा या क्या सोचेगा, अपनी इच्छानुसार जी सकते हैं. आपका अपना घर किराए की जगह से बहुत अलग होता है. आप अपने घर के अंदरूनी हिस्से को अपनी इच्छानुसार डिज़ाइन कर सकते हैं (किराए के घर में आपको मकान मालिक से इसकी अनुमति लेनी होती है). आपका अपना घर आपके व्यक्तित्व का प्रतिबिंब होता है. यह सामाजिक स्थिति और सफलता का भी संकेत देता है. यह अक्सर किसी के भी जीवन का सबसे बड़ा निर्णय और लेन-देन होता है. लेकिन घर बनाना कोई आसान निर्णय नहीं है. चूंकि इसके लिए बड़ी राशि का इन्वेस्ट किया जाता है इसलिए इसकी सावधानीपूर्वक योजना बनाना बेहद जरूरी है.

कुछ सालों पहले तक, जो लोग 40 या 50 से अधिक की उम्र के होते थे, वही घर बनाने के बारे में सोचते थे. लोग अपने कामकाजी जीवन और (बच्चों की शिक्षा और शादी जैसी अन्य महत्वपूर्ण जरूरतों के लिए खर्चे निकालने के बाद) अपने बजट के आधार पर घर खरीदते थे या उसका निर्माण करते थे. लेकिन समय बदल गया है. अब, लोग 30 के बाद की उम्र में और कभी कभी तो 20 के बाद की उम्र में ही घर खरीदने लगे हैं. वे अपने घर का मालिक बनने के लिए 50 की उम्र तक इंतजार नहीं करना चाहते हैं.

Tips for making down payment for your Home Loanघर खरीदने के लिए पैसे जुटाना

आप घर खरीदने के लिए पैसे जुटाने हेतु अपने लंबी अवधि के इन्वेस्टमेंट को निश्चित रूप से औने-पौने भावों पर बेचना नहीं चाहेंगे. लंबी अवधि के इन्वेस्टमेंट को तोड़ने से आपकी फाइनेंशियल प्लानिंग पर असर पड़ता है, और ऐसा अंतिम विकल्प के रूप में ही किया जाना चाहिए. होम लोन लेना एक बेहतर विकल्प है क्योंकि यह आपको न केवल फंड की कमी को दूर करने में मदद करता है बल्कि आपको अपने भविष्य की इनकम का लाभ उठाकर जल्द घर खरीदने में सक्षम बनाता है. तो आज के समय मेंहोम लोनआपके घर की फंडिंग जरूरतों को पूरा करने का सबसे आसान तरीका है, आप अपनी हैसियत के हिसाब से होम लोन ले सकते हैं और लेंडर द्वारा निर्धारित समय के अनुसार इसे वापस चुका सकते हैं.

Tips for making down payment for your Home Loanडाउन पेमेंट में आने वाली चुनौतियां

होम लोन में, आप घर की लागत का एक हिस्सा अपने निजी फंड से भरते हैं (जो कि आपकी पात्रता के अनुसार निर्धारित किया जाता है, न्यूनतम 10 प्रतिशत) और बाकी हिस्सा लेंडर (बैंक या हाउसिंग फाइनेंस संस्था) भरता है (बची हुई राशि, होम लोन के रूप में). तो घर की लागत का वह हिस्सा जिसे आपको अपने इनकम स्त्रोतों से भरना होता है, डाउन पेमेंट कहलाता है. होम लोन की पात्रता के लिए डाउन पेमेंट करना जरूरी है.

घर खरीदने का फैसला लेने के बाद, बात जब डाउन पेमेंट की आती है, तो यह आपके लिए चिंता का विषय हो सकता है. आपको अपनी अन्य फाइनेंशियल प्रतिबद्धताओं और लक्ष्यों से ध्यान हटाकर इसके लिए अलग से पैसों की व्यवस्था करनी पड़ती है. प्रॉपर्टी की उंची कीमतें स्थिति को और अधिक बिगाड़ देती है. इसके अलावा, डाउन पेमेंट के लिए पैसा इकट्ठा करने में देरी का मतलब है कि अपने घर को खरीदने में देरी, जिसका अर्थ है कि प्रॉपर्टी की कीमतों में और अधिक बढ़ोत्तरी का जोखिम. एकबारगी यह स्थिति काफी गंभीर प्रतीत होती है लेकिन कुछ ऐसे तरीके हैं जिनके माध्यम से आपकी डाउन पेमेंट को फंड करना आसान बनाया जा सकता है.

Tips for making down payment for your Home Loan

Tips for making down payment for your Home Loanघर के लिए डाउन पेमेंट इकट्ठा करने हेतु सुझाव

एक कॉर्पस निर्माण करें

आपके डाउन पेमेंट के लिए पैसा जुटाने का सबसे सरल तरीका है कि आप अपनी सेविंग में से एक कॉर्पस का निर्माण करें. अगर आप अपने जीवन में शुरू से ही, यानि कि कैरियर की शुरूआत से ही सेविंग करने की आदत बना लेते हैं तो आपकी सेविंग लगातार कंपाउंड होती जाती है और कुछ सालों में आप एक अच्छा खासा कॉर्पस तैयार कर लेते हैं. प्रारंभिक वर्षों में, आप अपनी सेविंग को अधिक रिटर्न देने वाले इन्वेस्टमेंट जैसे इक्विटी (संतुलित जोखिम के साथ) में इन्वेस्ट करने पर विचार कर सकते हैं. इसके बाद, आपको अपना लाभ बुक करना होगा और बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट जैसे सुरक्षित इन्वेस्टमेंट माध्यम में अपने पैसे ट्रांसफर करने होंगे. बजट बनाएं, अपने रोजमर्रा के खर्चों पर नजर रखें, और बेहिसाब खरीदारी और बिना मतलब के खर्चों से बचें. इसके अलावा उच्च लागत वाले ॠणों का भुगतान करके अपने लोन्ज़ को समेकित करें, और इस प्रकार से आपकी मासिक सेविंग धीरे-धीरे बढ़ने लगेगी.

आनुपातिक रिलीज विकल्प पर विचार करें

यह चुनिंदा डेवलपर्स द्वारा प्रचारित नई निर्माण परियोजनाओं के लिए, ग्राहकों के लिए चुनिंदा लेंडर्स द्वारा दी जाने वाली सुविधा है. यह विकल्प आपको एक साथ बड़ी राशि के भुगतान की बजाय धीरे-धीरे, छोटे-छोटे हिस्सों में भुगतान करने की सुविधा देता है. जैसा कि निर्माण में वर्षों का समय लगता है, आप समय-समय पर अपना डाउन पेमेंट कर सकते हैं, जिसके आधार पर लेंडर आपके लोन को डिस्बर्स करता रहेगा. यह सुविधा एक बार में बड़ी राशि का भुगतान करने के बोझ को कम करती है.

अपनी लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसीज़ या प्रोविडेंट फंड पर लोन प्राप्त करें

घर एक लंबे समय के लिए खरीदी हुई प्रॉपर्टी होती है और समय के साथ-साथ इसकी कीमत बढ़ती जाती है, तो और कोई विकल्प ना मिलने पर आप इसकी डाउन पेमेंट के लिए अपने लंबी अवधि के इंवेस्टमेंट को तोड़ने के बारे में विचार कर सकते हैं. आप अपनी लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसीज़ या प्रोविडेंट फंड पर लोन प्राप्त कर सकते हैं. भविष्य में सेविंग एकत्र हो जाने पर आप इस लोन को वापस चुका सकते हैं.

परिवार और दोस्तों की मदद लें

अंतिम उपाय के रूप में, आप अपने दोस्तों या रिश्तेदारों से उधार लेने पर विचार कर सकते हैं. यह एक संवेदनशील मुद्दा हो सकता है और इसकी सलाह और व्यवहार्यता पर हमारी बजाय आप बेहतर निर्णय ले सकते हैं.

Tips for making down payment for your Home Loanडाउन पेमेंट कितना करना चाहिए?

हालांकि लेंडर आपकी डाउन पेमेंट के लिए न्यूनतम राशि निर्धारित करते हैं, लेकिन आप चाहें तो न्यूनतम भुगतान करने का विकल्प चुन सकते हैं या अपनी वहन क्षमता के आधार पर बड़ा भुगतान कर सकते हैं. हर विकल्प के अपने फायदे और नुकसान होते हैं.

घर के लिए बड़ी डाउन पेमेंट करने के लाभ

डाउन पेमेंट के रूप में एक बड़ी राशि का भुगतान करने के निम्न लाभ होते हैं :

  • आपकी प्रॉपर्टी में आपका हिस्सा लेंडर के मुकाबले अधिक हो जाता है और लोन पर आपकी निर्भरता कम हो जाती है.
  • आमतौर पर विभिन्न लोन राशियों के लिए ब्याज की दरें अलग-अलग होती हैं, ऐसी स्थिति में कम राशि का लोन कम ब्याज दरों पर मिल सकता है. उदाहरण के लिए, ₹20 लाख का लोन, ₹30 लाख के लोन की तुलना में कम ब्याज दर पर मिल सकता है. यह लेंडर की पॉलिसी पर निर्भर करता है.
  • एक कम लोन राशि उधार देने वाली संस्था को रीपेमेंट के बारे में अधिक सुनिश्चितता प्रदान करती है और इसलिए यह त्वरित लोन अप्रूवल की संभावना को बढ़ाती है.
  • इससे कुल लागत में कमी आती है क्योंकि प्रोसेसिंग फीस और होम लोन इंश्योरेंस प्रीमियम लोन राशि पर निर्भर करते हैं.

 

घर खरीदने के लिए बड़ा डाउन पेमेंट करने के नुकसान

डाउन पेमेंट के रूप में एक बड़ी राशि का भुगतान करने के निम्नलिखित नुकसान हैं:

  • आपका बड़ी मात्रा में पैसा लंबे समय के लिए ब्लॉक हो जाता है, और जरूरत के समय आपके लिए पैसों का इंतजाम करना मुश्किल हो जाता है. इससे किसी भी इमरजेंसी के दौरान आपको आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ सकता है.
  • आपके होम लोन की रीपेमेंट आपको मूल और ब्याज दोनों घटकों पर टैक्स लाभ देती है. तो लोन राशि कम होने का मतलब है आपका टैक्स लाभ कम हो जाना.
  • आपको अपने मकान को घर बनाने के लिए होने वाले शुरुआती खर्चों जैसे फर्नीचर और कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, रिपेयर और रेनोवेशन आदि के लिए पैसों की तंगी हो सकती है.

Tips for making down payment for your Home Loanसंक्षेप में

अगर आप युवावस्था में ही अपने परिवार के लिए एक अच्छा घर लेना चाहते हैं तो इसके लिए होम लोन लेना बहुत जरूरी है. होम लोन लेने की स्थिति में डाउन पेमेंट करना भी आवश्यक होता है. आपको अपनी फाइनेंशियल परिस्थितियों और वरीयताओं के आधार पर डाउन पेमेंट का निर्धारण करना चाहिए.

अपने विचार साझा करें

इस जानकारी को निजी रखा जाएगा और सार्वजनिक रूप से नहीं दिखाया जाएगा.