मुख्य बिंदु

    

अपनी घर खरीदने की योजना बनाने के लिए –

  • सबसे पहले अपना बजट निर्धारित करें, जो कि आपके डाउन पेमेंट और होम लोन की राशि पर आधारित होता है.
  • आपका बजट आपके द्वारा चुने गए लोकेशन, साइज़ और सुविधाओं को निर्धारित करेगा.
  • ऑनलाइन खोजें और अपनी पसंदीदा लोकेशन में कुछ प्रॉपर्टी शॉर्टलिस्ट करें.
  • प्रॉपर्टी पर खुद जाएं और ट्रांसपोर्ट के आसान एक्सेस, हेल्थकेयर और अन्य सोशल इन्फ्रास्ट्रक्चर के सुविधाओं की जांच करें.
  • अपनी भविष्य की आवश्यकताओं के बारे में सोचें और खरीदारी का निर्णय लेने से पहले घर के पुनर्विक्रय मूल्य पर विचार करें.
  • पर्याप्त होमवर्क करें और अपना निर्णय लेने के लिए समय लें.
    

नया घर खरीदने का काम बड़ी मेहनत का होता है. इस खरीद प्रक्रिया के हर चरण में सही फैसला करना काफी थकाऊ और तनाव भरा हो सकता है. ऐसा इसलिए क्योंकि यह आमतौर पर आपके जीवन का सबसे महंगा सौदा होता है, खासकर जब आप युवा हों और कुछ साल पहले ही आपने अपना कैरियर शुरू किया हो.

लेकिन ज़रूरी नहीं कि ऐसा हो. अगर आप एकदम शुरूआत से ही अच्छी तरह योजना बनाएं, तो आप अपने सपनों का घर खरीदने की सभी बाधाएं आराम से पार कर सकते हैं नीचे दी सभी गतिविधियां खुद करना सबसे बेहतर रहता है ताकि आप जहां रहने की सोच रहे हैं, उस बारे में प्रत्यक्ष जानकारी हासिल कर सकें.

सबसे पहले, आपको अपना घर खरीदने के लिए बजट तय करना होता है बजट का असर साइज़ लोकेशन, और सुविधाओं के चयन पर भी पड़ता है, जो आप चुन सकते हैं. बजट का उचित आइडिया हो जाने पर आप थोड़े अतिरिक्त साइज़ या उस अप-मार्केट लोकैलिटी के लिए अपने बजट को थोड़ा सा बढ़ाने की गुंजाइश पर भी विचार कर पाते हैं हममें से ज्यादातर लोगों के पास इतना फंड नहीं होता, कि तुरंत एक घर खरीद सकें. लेकिन जो लोग ऐसा कर भी सकते हैं, उनके लिए भी होम लोन लेना फायदे का सौदा रहता है क्योंकि वित्तीय संस्थानों द्वारा प्रापर्टी की कानूनी और तकनीकी पहलुओं से उचित जांच के रूप में ज़रूरी सहायता प्रदान की जाती है, और इसके अलावा टैक्स बेनिफिट्‌स भी प्राप्त किए जा सकते हैं.

इस तरह से, घर खरीदने पर आप कितना खर्च कर सकते हैं, यह सीधे तौर पर आपके द्वारा अग्रिम के रूप से भुगतान की जाने वाली अमाउंट और होम लोन की उस कुल राशी से संबंधित है जिसकी EMI आप अफोर्ड कर सकते हैं.

WHERE TO BUY YOUR HOMEअपने प्रमुख विकल्पों (टॉप पिक्स) में से चुनें

विविध कारकों के कारण, आपके ध्यान में एक से अधिक विकल्प होने चाहिए. आप उस स्थान के पड़ोस में बसना चाह सकते हैं, जहां आपका बचपन बीता हो, लेकिन अगर वह जगह काफी महंगी हुई तो क्या करेंगे - उस स्थिति में आप थोड़ा दूर जाना चाहेंगे, लेकिन ऐसे एरिया में, जो रेल या सड़क के जरिए आपके माता-पिता के घर से, आपके कार्यस्थल से, तथा मार्केट एरिया या कॉमर्शियल सेंटरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ हो.

Due to the influx of several property portals, starting the search for your home is best done on the Internet these days. Various real-estate websites list current property indexes for most localities. Look at the average price listed per sq. ft. A quick search on these websites will also tell you the general availability of homes for sale (their size, situation, age as well as amenities that may come along with it.) Check the available or suitable sizes of homes and their quoted price and you have an estimate to work with. You may even be able to narrow your preferences down to a couple of top picks considering the estimated price that you are comfortable with.

WHERE TO BUY YOUR HOME

WHERE TO BUY YOUR HOMEलोकेशन की खुद जांच करें

संक्षिप्त सूची तैयार तैयार करने के बाद, उन जगहों पर खुद जाएं. एरिया में घूमें, आपको कुछ लेन बाकियों से अधिक शांतिपूर्ण और सुविधाजनक लग सकती हैं, और हो सकता है कि वे आपके बजट के एकदम अनुरूप हों. एक बात अवश्य ध्यान में रखें कि ट्रांसपोर्ट, स्कूल, हॉस्पिटल्स, यूटिलिटीज आदि सुविधाओं वाली कोई सुविधाजनक जगह, आपको उस जगह से महंगी पड़ सकती है जो वहां से केवल 10 मिनट की पैदल दूरी पर ही स्थित हो.

आपके घर में, आपके साथ रहने वाले अन्य सभी लोगों की ज़रूरतों पर भी विचार करें. अगर आपके घर में बड़े-बुजुर्ग भी हों, तो आप अच्छी हेल्थकेयर सुविधाओं, मनोरंजन केंद्रों की निकटता वाले ऐसे स्थानों की खोज करना चाह सकते हैं जो शांत माहौल वाले भी हों. कम बसावट वाला एरिया, बच्चों को खेलने-कूदने, पढ़ने और सुरक्षित माहौल में बड़े होने के लिए पर्याप्त सुविधाएं देगा.

WHERE TO BUY YOUR HOMEसटीक जानकारी के लिए आस-पास पूछताछ करें

रियल एस्टेट वेबसाइटों पर बिक्री के लिए अनेक अपार्टमेंट सीधे दर्ज किए जाते हैं. सेकेंड सेल के मामले में ओनर से, और नए घर के मामले में बिल्डर से आप सीधी बात करके देख सकते हैं. रिएल्टर/कंसल्टैंट को कमीशन देने की ज़रूरत नहीं रहती, जिस से आपकी कम से कम कुछ हजार की बचत तो हो ही जाती है. अगर आप कोई ऐसा अपार्टमेंट देखें जो बहुत फैंसी दिखता हो, तो यह ज़रूर पक्का कर लें कि बेसिक ज़रूरतें जैसे कि बिजली और पानी समुचित हों, सीवरेज सुविधाएं एकदम ठीक हों और पास-पड़ोस का माहौल सुरक्षित और संरक्षित हो.

WHERE TO BUY YOUR HOMEभविष्य की सोचें

हालांकि घर के साथ ढेरों स्मृतियां और भावनाएं जुड़ी होती हैं, लेकिन कभी ऐसा समय आ सकता है जब आपको आगे बढ़ने का सोचना पड़ सकता है. ऐसा प्रोफेशनल वजहों से, जैसे कि नौकरी या शहर बदलना, या ऊपर की ओर गतिशीलता (आर्थिक तरक्की) के कारण हो सकता है. परिवार बढ़ सकता है और ज़रूरतें बदल सकती हैं. उस समय यह समझना महत्त्वपूर्ण है कि कई साल पहले किया गया इन्वेस्टमेन्ट ठीक था, और इसकी वैल्यू कई गुना बढ़कर मिली है. इसलिए, खरीदने का फैसला करने से पहले अपने घर की रिसेल वैल्यू पर भी विचार करना ज़रूरी है.

 

WHERE TO BUY YOUR HOMEठंडे दिमाग से फैसला लें

अपना घर खरीदने से पहले आपको पर्याप्त समय निकालकर होमवर्क करना चाहिए. आप बार-बार घरों को बेचने और/या फिर से खरीदने का काम नहीं कर सकते, इसलिए पहली बार में ही सर्वोत्तम फैसला करें. अपने विकल्प खुले रखें और हर पहलू की जानकारी हासिल करने से पहले किसी भी सौदे के लिए हामी न भरें. अंत में, अपने लिए दूसरों को फैसले न करने दें, आप आखिरकर ऐसे घर में नहीं रहना चाहेंगे, जो किसी दूसरे की कल्पनाओं जैसा दिखता और महसूस होता हो.

इसे भी पढ़ें - होम लोन प्री-पेमेंट

अपने विचार साझा करें

इस जानकारी को निजी रखा जाएगा और सार्वजनिक रूप से नहीं दिखाया जाएगा.