होम लोन डॉक्यूमेंट और शुल्क

हमें अपनी लोन की आवश्यकताओं के बारे में बताएं

मेरी रेजिडेंशियल स्थिति
मैं हूं

डॉक्यूमेंट और शुल्क

लोन अप्रूवल के लिए सभी एप्लीकेंट/को-एप्लीकेंट को पूर्ण रूप से भरे हुए और हस्ताक्षरित एप्लीकेशन फॉर्म के साथ निम्नलिखित डॉक्यूमेंट जमा करने होंगे:

कोई एक चुनें

Pan Card
KYC के लिए अनिवार्य डॉक्यूमेंट
अभी अप्लाई करें!

KYC डॉक्यूमेंट की पूरी सूची के लिए यहां क्लिक करें.

  • पिछले 3 महीने की सैलरी स्लिप
  • पिछले 6 महीने की बैंक स्टेटमेंट, जिसमें सैलरी क्रेडिट होने का विवरण हो
  • लेटेस्ट फॉर्म-16 और इनकम टैक्स रिटर्न

नए घरों के लिए:

  • आवंटन लेटर/बायर एग्रीमेंट की कॉपी
  • डेवलपर को किए गए भुगतान की रसीदें

 

पुराने/पुनर्विक्रय घरों के लिए:

  • प्रॉपर्टी डॉक्यूमेंट की पिछली चैन सहित टाइटल डीड्स
  • विक्रेता को किए गए शुरुआती भुगतान की रसीदें
  • बेचने के एग्रीमेंट की कॉपी (अगर पहले से ही क्रियान्वित हो गया है)

 

निर्माण के लिए:

  • प्लॉट की टाइटल डीड 
  • प्रॉपर्टी पर कोई और लोन न होने का प्रमाण
  • स्थानीय अथॉरिटी द्वारा अप्रूव किए गए प्लान की कॉपी
  • आर्किटेक्ट/सिविल इंजीनियर द्वारा निर्माण की अनुमानित लागत का डॉक्यूमेंट
  • स्वयं के योगदान का प्रमाण
  • अगर वर्तमान नौकरी की अवधि एक वर्ष से कम हो तो नौकरी का कॉन्ट्रैक्ट/अपॉइंटमेंट लेटर
  • पिछले 6 महीने की बैंक स्टेटमेंट जिसमें चालू लोन की रीपेमेंट दर्शाई गई हो
  • सभी एप्लीकेंट/को-एप्लीकेंट की पासपोर्ट साइज फोटो एप्लीकेशन फॉर्म पर हस्ताक्षर सहित लगी होनी चाहिए.
  • एच डी एफ सी लिमिटेड के नाम पर प्रोसेसिंग फीस का चेक.

यह लोन की प्रकृति के अनुसार दी जाने वाली फीस/अन्य शुल्क/खर्च की सांकेतिक सूची है (*):

प्रोसेसिंग फीस

लोन राशि का 0.50% या ₹ 3,000 दोनों में से जो भी अधिक हो, साथ ही लागू टैक्स भी.

बाहरी सलाह लेने का शुल्क

बाहरी वकील/तकनीकी मूल्य निर्धारकों से सलाह लेने का शुल्क, केस दर केस निर्धारित किया जाएगा. ऐसे शुल्क सीधा वकील/तकनीकी सलाहकार को उनकी सेवा के अनुसार देय होंगे.

प्रॉपर्टी इंश्योरेंस

कस्टमर, प्रीमियम राशि का भुगतान सीधे इंश्योरेंस प्रदाता को तुरंत और नियमित रूप से करेगा ताकि लोन की लंबित अवधि के दौरान पॉलिसी/पॉलिसीज़ को चालू रख सके.

देरी से किए गए भुगतान पर शुल्क

ब्याज या EMI के भुगतान में हुई देरी के कारण कस्टमर को 24% सालाना की दर तक के अतिरिक्त ब्याज का भुगतान करना पड़ सकता है.

आकस्मिक शुल्क

आकस्मिक शुल्क वह खर्च होता है जो बकायदार कस्टमर से बकाया रिकवर करते समय लगी लागत, शुल्क, खर्च या अन्य प्रभार की भरपाई के लिए लिया जाता है. कस्टमर अनुरोध कर के पॉलिसी की एक कॉपी संबंधित ब्रांच से प्राप्त कर सकते हैं.

वैधानिक/नियामक शुल्क

स्टाम्प ड्यूटी/MOD/MOE/सेंट्रल रजिस्ट्री ऑफ सिक्योरिटाइज़ेशन एसेट रिकंस्ट्रक्शन एंड सिक्योरिटी इंटरेस्ट ऑफ इंडिया (CERSAI) या ऐसे अन्य वैधानिक/नियामक निकायों के अंतर्गत देय सभी शुल्क और टैक्स कस्टमर द्वारा अदा किए जाएंगे (या वापस किए जाएंगे, जैसा भी मामला हो). इन सभी शुल्कों के लिए आप CERSAI की वेबसाइट www.cersai.org.in पर जा सकते हैं

अन्य शुल्क

type शुल्क
चेक डिसऑनर शुल्क  ₹ 200**
डॉक्यूमेंट की सूची ₹500 तक
डॉक्यूमेंट की फोटो कॉपी ₹500 तक
PDC स्वैप ₹200 तक
डिस्बर्समेंट के बाद डिस्बर्समेंट चेक कैंसलेशन शुल्क ₹200 तक
मंजूरी के 6 महीने बाद लोन में दोबारा वृद्धि ₹ 2000 तक, साथ ही लागू टैक्स भी
लोन अवधि में वृद्धि/कमी ₹ 500 तक, साथ ही लागू टैक्स भी
A. परिवर्तनशील ब्याज दर के लागू होने की अवधि तक एडजस्टेबल रेट लोन ("ARHL") और कॉम्बिनेशन रेट होम लोन ("CRHL")

a) व्यक्तिगत बॉरोअर के लिए:

केवल व्यक्तिगत बॉरोअर को दिए गए किसी भी प्रकार के लोन की, किसी भी माध्यम द्वारा प्रीपेमेंट पर, चाहे वह लोन का कुछ हिस्सा हो चाहे पूरा हो, कोई प्रीपेमेंट शुल्क नहीं लगेगा.

b) व्यक्तिगत बॉरोअर के अलावा अन्य बॉरोअर के लिए - वह लोन जिनमें कंपनी/एकल उद्योग उपक्रम/फर्म या HUF को-एप्लीकेंट हो:

i. अगर लोन का भुगतान प्रथम डिस्बर्समेंट की तिथि से छह (6) महीनों के भीतर कर दिया जाता है, तो प्रीपेड राशि पर 2% प्रीपेमेंट शुल्क, साथ ही टैक्स और वैधानिक शुल्क लगेगा;

ii. छह (6) महीने पूरे होने के बाद 36 महीनों तक, बॉरोअर के पास यह विकल्प होगा कि वह हर वित्तीय वर्ष के शुरू में प्रारंभिक मूल राशि का 25% तक का हिस्सा, लोन की किस्त के रूप में, किसी भी प्रीपेमेंट शुल्क के बिना दे सके. ऐसी प्रीपेमेंट बॉरोअर को अपने ही साधनों* से करनी होगी.

किसी भी वित्तीय वर्ष में अगर प्रीपेड राशि 25% की सीमा से अधिक हुई, तो 25% के ऊपर की राशि पर 2% के हिसाब से प्रीपेड शुल्क लगेगा.

36 महीने पूरे होने पर, अगर लोन अपने साधनों से प्रीपे किया जाता है, तो कोई प्रीपेमेंट शुल्क नहीं लगेगा. यद्यपि, अगर लोन रीफाइनेंस द्वारा प्रीपे किया जाता है तो बॉरोअर को प्रीपेमेंट शुल्क देना होगा.

c) लोन प्रीपेमेंट के समय कस्टमर को ऐसे डॉक्यूमेंट जमा करने अनिवार्य होंगे जिन्हें एच डी एफ सी फंड के स्रोत रूप में सही माने.

*यहां "स्वयं के स्रोतों" से तात्पर्य है बैंक/HFC/NBFC या फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन से अलग स्रोतों से उधार लेना.

उपरोक्त प्रीपेमेंट शुल्क इस लोन एग्रीमेंट के लागू होने की तिथि के अनुसार हैं, हालांकि एच डी एफ सी की प्रचलित नीतियों के अनुसार इनमें समय-समय पर बदलाव हो सकता है. कस्टमर से अनुरोध है कि वे प्रीपेमेंट पर वर्तमान में लागू शुल्क से संबंधित जानकारी के लिए www.hdfc.com पर जाएं.

B. फिक्स्ड ब्याज दर लागू होने की अवधि के दौरान फिक्स्ड रेट लोन ("FRHL") और कम्बीनेशन रेट होम लोन ("CRHL")

a) व्यक्तिगत बॉरोअर के लिए:

डिस्बर्स किए गए हर लोन के लिए, अपने स्रोतों की जगह किसी भी बैंक/HFC/NBFC या फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन द्वारा रीफाइनेंस के माध्यम से भुगतान की गई बकाया राशि पर (किसी वित्तीय वर्ष में प्रीपे की गई हर राशि शामिल) प्रीपेमेंट शुल्क होगा 2%, साथ ही लागू टैक्स भी, और समय-समय पर लगने वाले शुल्क व वैधानिक शुल्क, और यह आंशिक और पूर्ण प्रीपेमेंट, दोनों पर लागू होगा.

b) व्यक्तिगत बॉरोअर के अलावा अन्य बॉरोअर के लिए - वह लोन जिनमें कंपनी/एकल उद्योग उपक्रम/फर्म या HUF को-एप्लीकेंट हो:

i. अगर लोन का भुगतान प्रथम डिस्बर्समेंट की तिथि से छह (6) महीनों के भीतर कर दिया जाता है, तो प्रीपेड राशि पर 2% प्रीपेमेंट शुल्क, साथ ही टैक्स और वैधानिक शुल्क लगेगा;

ii. छह (6) महीने पूरे होने के बाद 36 महीनों तक, बॉरोअर के पास यह विकल्प होगा कि वह हर वित्तीय वर्ष के शुरू में प्रारंभिक मूल राशि का 25% तक का हिस्सा, लोन की किस्त के रूप में, किसी भी प्रीपेमेंट शुल्क के बिना दे सके. ऐसी प्रीपेमेंट बॉरोअर को अपने ही साधनों से करनी होगी.

किसी भी वित्तीय वर्ष में अगर प्रीपेड राशि 25% की सीमा से अधिक हुई, तो 25% के ऊपर की राशि पर 2% के हिसाब से प्रीपेड शुल्क लगेगा.

36 महीने पूरे होने पर, अगर लोन अपने साधनों से प्रीपे किया जाता है, तो कोई प्रीपेमेंट शुल्क नहीं लगेगा. यद्यपि, अगर लोन रीफाइनेंस द्वारा प्रीपे किया जाता है तो बॉरोअर को प्रीपेमेंट शुल्क देना होगा.

c) लोन प्रीपेमेंट के समय कस्टमर को ऐसे डॉक्यूमेंट जमा करने अनिवार्य होंगे जिन्हें एच डी एफ सी फंड के स्रोत रूप में सही माने.

*यहां "स्वयं के स्रोतों" से तात्पर्य है बैंक/HFC/NBFC या फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन से अलग स्रोतों से उधार लेना.

उपरोक्त प्रीपेमेंट शुल्क इस लोन एग्रीमेंट के लागू होने की तिथि के अनुसार हैं, हालांकि एच डी एफ सी की प्रचलित नीतियों के अनुसार इनमें समय-समय पर बदलाव हो सकता है. कस्टमर से अनुरोध है कि वे प्रीपेमेंट पर वर्तमान में लागू शुल्क से संबंधित जानकारी के लिए www.hdfc.com पर जाएं.

हम अपने मौजूदा कस्टमर को अपनी कन्वर्ज़न सुविधा के माध्यम से होम लोन पर लागू ब्याज दरों को कम करने का (स्प्रेड में बदलाव या स्कीमों के बीच स्विच करके) विकल्प ऑफर करते हैं. आप मामूली शुल्क देकर इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं और अपनी मासिक किस्त (EMI) या लोन अवधि को कम करने का विकल्प चुन सकते हैं. शर्तें लागू. हमारी कन्वर्ज़न सुविधा का लाभ उठाने और उपलब्ध विभिन्न विकल्पों पर चर्चा करने के लिए या तो यहां क्लिक करें ताकि हम आपको कॉल कर सकें या अपनी होम लोन अकाउंट की जानकारी 24x7 पाने के लिए हमारी मौजूदा कस्टमर के लिए ऑनलाइन एक्सेस सर्विस पर लॉग-ऑन करें. एच डी एफ सी के मौजूदा कस्टमर के लिए कन्वर्ज़न के निम्नलिखित विकल्प उपलब्ध हैं:

प्रोडक्ट/सर्विस का नाम लगाए गए फीस/शुल्क का नाम कब देय है फ्रिक्वेंसी राशि रुपये में

वेरिएबल रेट लोन में कम रेट पर स्विच करना (हाउसिंग/एक्सटेंशन/इम्प्रूवमेंट)

कन्वर्ज़न शुल्क कन्वर्ज़न पर हर स्प्रेड बदलाव पर कन्वर्ज़न के समय मूल बकाया और डिस्बर्स न की गई राशि (अगर कोई हो तो) का 0.50% या ₹ 50000 साथ ही टैक्स भी, दोनों में से जो भी कम हो.

फिक्स्ड रेट लोन से वेरिएबल रेट लोन में स्विच करना (हाउसिंग/एक्सटेंशन/इम्प्रूवमेंट)

कन्वर्ज़न शुल्क कन्वर्ज़न पर एक बार कन्वर्ज़न के समय मूल बकाया और डिस्बर्स न की गई राशि (अगर कोई हो तो) का 0.50% या ₹ 50000 साथ ही टैक्स भी, दोनों में से जो भी कम हो.

ट्रुफिक्स्ड फिक्स्ड रेट से वेरिएबल रेट में स्विच करना

कन्वर्ज़न शुल्क कन्वर्ज़न पर एक बार कन्वर्ज़न के समय मूल बकाया राशि और डिस्बर्स न की गई राशि (अगर कोई हो तो) का 1.75%, साथ ही टैक्स भी.

कम दर के लिए स्विच करना (नॉन-हाउसिंग लोन)

कन्वर्ज़न शुल्क कन्वर्ज़न पर हर स्प्रेड बदलाव पर न्यूनतम 0.5% और अधिकतम 1.50% फीस के साथ मूल बकाया और डिस्बर्स न की गई राशि (अगर कोई हो तो) पर स्प्रेड में अंतर का आधा, साथ ही टैक्स भी.

कम दर के लिए स्विच करना (प्लॉट लोन)

कन्वर्ज़न शुल्क कन्वर्ज़न पर हर स्प्रेड बदलाव पर कन्वर्ज़न के समय मूल बकाया राशि और डिस्बर्स न की गई राशि (अगर कोई हो तो) का 0.5%, साथ ही टैक्स भी.

SURF एक ऐसा विकल्प प्रदान करता है, जिसमें रीपेमेंट को आपकी इनकम में होने वाली अपेक्षित वृद्धि के साथ जोड़ा जाता है. आप शुरुआती वर्षों में अधिक लोन ले सकते हैं और कम EMI का भुगतान कर सकते हैं. आगे चलकर, आपकी इनकम की कल्पित वृद्धि के अनुपात में, रीपेमेंट में तेज़ी आती है.

FLIP, लोन अवधि में समय-समय पर बदलती आपकी रीपेमेंट की क्षमता के अनुसार आपको व्यक्तिगत समाधान देता है. लोन इस प्रकार से बनाया जाता है कि शुरुआती वर्षों में आपकी EMI अधिक होती है जो समय के साथ, आपकी इनकम के अनुपात में घटती जाती है.

अगर आप निर्माणाधीन प्रॉपर्टी खरीदते हैं, तो आमतौर पर आपको डिस्बर्स हुई आंशिक राशि पर केवल ब्याज ही देना होगा, और पूरी लोन राशि डिस्बर्स होने के बाद ही आपकी EMI शुरू होगी. अगर आप तुरंत मूल का रीपेमेंट शुरू करना चाहते हैं, तो आप लोन ट्रांश करने का विकल्प चुन सकते हैं और डिस्बर्स की गई राशि का EMI में भुगतान शुरू कर सकते हैं.

इस विकल्प में आप अपनी बढ़ती सैलरी के साथ, हर वर्ष अपनी EMI भी बढ़ा सकते हैं, इससे आपके लोन का रीपेमेंट और भी जल्दी हो जाएगा.

इस विकल्प के साथ आपको 30 वर्ष तक की लंबी रीपेमेंट अवधि मिलती है. इसका मतलब कि आपकी लोन पात्रता अधिक है और आपको कम EMI का भुगतान करना होगा.

चैट शुरू करें!