क्रेडिट स्कोर क्या है? 

क्रेडिट स्कोर 300 से 900 तक का एक तीन अंकों का नंबर है, जो आपकी क्रेडिट योग्यता को दर्शाता है. दूसरे शब्दों में, यह समय पर लोन चुकाने की आपकी क्षमता का सूचक है. क्रेडिट ब्यूरो द्वारा क्रेडिट उपयोग अनुपात और क्रेडिट रीपेमेंट हिस्ट्री जैसे महत्वपूर्ण कारकों का मूल्यांकन किया जाता है और प्रत्येक व्यक्ति को क्रेडिट स्कोर प्रदान किया जाता है. 

भारत में होम लोन के लिए अच्छा क्रेडिट स्कोर क्या है?

होम लोन एप्लीकेशन को अप्रूव करने के लिए विभिन्न लेंडर की अलग-अलग बेंचमार्क क्रेडिट स्कोर आवश्यकताएं होती हैं, लेकिन 700-750 की रेंज में स्कोर को काफी अच्छा माना जाता है. 

900 के करीब उच्च स्कोर का मतलब है कि आपका लोन अप्रूव होने की बेहतर संभावनाएं हैं. आप लोन एप्लीकेशन की तेज़ प्रोसेसिंग, बेहतर कीमत, जैसे कम ब्याज दर और डिस्काउंटेड प्रोसेसिंग फीस और बड़ी लोन राशि का लाभ भी उठा सकते हैं.

भारत में विभिन्न क्रेडिट ब्यूरो क्या हैं?

क्रेडिट ब्यूरो एक ऐसा संस्थान है, जो किसी व्यक्ति और बिज़नेस कंपनी के फाइनेंशियल डेटा और उनके रीपेमेंट सहित, उनके लोन, क्रेडिट कार्ड, ओवरड्राफ्ट इत्यादि की जानकारी को एकत्र करता है और उनका विश्लेषण करता है. क्रेडिट ब्यूरो द्वारा इस डेटा का उपयोग व्यक्तियों और बिज़नेस कंपनी के लिए क्रेडिट स्कोर बनाने के लिए किया जाता है. 

लेंडर के लिए, क्रेडिट ब्यूरो, कस्टमर की क्रेडिट हिस्ट्री और रीपेमेंट क्षमता के बारे में जानकारी एकत्र करने के लिए एक विश्वसनीय स्रोत के रूप में कार्य करता है. 

भारत में सबसे प्रमुख क्रेडिट ब्यूरो हैं: CIBIL (क्रेडिट इन्फॉर्मेशन ब्यूरो इंडिया लिमिटेड), इक्विफैक्स, हाईमार्क और एक्सपीरियन. 

आपके पास अच्छा क्रेडिट स्कोर क्यों होना चाहिए?

जब आप होम लोन के लिए अप्लाई करते हैं और आपका क्रेडिट स्कोर उच्च होता हैं, यानि 750 से अधिक, तो आप आशा कर सकते हैं कि लेंडर आपको कुछ विशेष लाभ प्रदान करेगा, जैसे:

  • बेहतर होम लोन पात्रता: आप अधिक राशि उधार ले सकते हैं (अगर आवश्यक हो).
  • तेज़ लोन प्रोसेसिंग: लेंडर आपकी लोन एप्लीकेशन को तेज़ी से प्रोसेस कर सकता है और राशि जल्दी डिस्बर्स कर सकता है.

अन्य लाभ: आपकी उच्च विश्वसनीयता और अच्छी पुनर्भुगतान हिस्ट्री के कारण, लेंडर कम ब्याज दर पर होम लोन प्रदान कर सकता है और डिस्काउंटेड प्रोसेसिंग फीस और अन्य शुल्क भी दे सकता है.

अपना क्रेडिट स्कोर बेहतर कैसे बनाएं?

  • अपने क्रेडिट कार्ड के बिल या लोन का समय पर भुगतान करें. 
  • सुनिश्चित करें कि आपने अपने बिल को पूरा सेटल किया है. 
  • सेक्योर्ड और अनसेक्योर्ड लोन के बीच अच्छा बैलेंस बनाए रखें.
  • हमेशा अपनी क्रेडिट रिपोर्ट चेक करें और गलतियों की जांच करें. अगर आपको कोई अवांछित ट्रांज़ैक्शन मिलते हैं, तो उन्हें तुरंत क्रेडिट ब्यूरो को रिपोर्ट करें और रिपोर्ट में सुधार करवाएं. 
  • अपने क्रेडिट कार्ड का सावधानीपूर्वक उपयोग करें और क्रेडिट लिमिट के 50% से अधिक का उपयोग न करने की कोशिश करें.
  • एक ही समय में बहुत से लोन के लिए अप्लाई करने से बचें. इससे प्रतीत होगा कि आपको अत्यधिक क्रेडिट की आवश्यकता है.